Osama Bin Laden wanted to do many terrorist attacks like 9/11 shocking revelations in documents। Osama Bin Laden: 9/11 जैसे कई आतंकी हमले करना चाहता था ओसामा बिन लादेन, हुए चौंकाने वाले खुलासे

Osama Bin Laden- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO
Osama Bin Laden

Highlights

  • 9/11 जैसे कई आतंकी हमले करना चाहता था ओसामा बिन लादेन
  • नेवी सील की टीम ने 5 लाख से ज्यादा पत्र और फाइल किए थे जब्त
  • लेखक और इस्लामिक विद्वान नेली लाहौद ने सालों तक इन पत्रों पर रिसर्च की

वॉशिंगटन: तारीख थी 9 सितंबर और साल था 2001, लेकिन आज भी ये दिन अमेरिका के इतिहास में सबसे काला दिन माना जाता है। इसी दिन अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर बड़ा आतंकी हमला हुआ था, जिसमें करीब 3 हजार लोग मारे गए थे। इस हमले का मास्टरमाइंड ओसामा बिन लादेन था। साल 2011 में लादेन को तो अमेरिका ने पाकिस्तान में मार गिराया, लेकिन अब जो खबर सामने आई है, वह चौंकाने वाली है। पता चला है कि लादेन इसी तरह के कई हमलों को अंजाम देना चाहता था, जिससे दुनिया में आतंकियों की दहशत बढ़ जाए। 

दरअसल साल 2011 में नेवी सील की जिस टीम ने ओसामा को ढूंढा और मार गिराया था, उसने 5 लाख से ज्यादा पत्र और फाइल जब्त किए थे। इसके बाद लेखक और इस्लामिक विद्वान नेली लाहौद ने सालों तक इन पत्रों पर रिसर्च की और फिर जो बात पता लगी, उसे जानकर हर कोई दंग रह गया। इन पत्रों से यह सामने आया कि आतंकी प्राइवेट जेट से आतंकी हमले करना चाहते थे क्योंकि एयरपोर्ट पर सुरक्षा काफी सख्त रहती है। 

इसके अलावा इन पत्रों से यह भी पता लगा कि लादेन अमेरिका में तबाही मचाने के लिए ट्रेनों को पटरी से उतारना चाहता था, जिससे ट्रेन पलट सके और ज्यादा से ज्यादा लोगों की मौत हो सके। पत्रों में ये जानकारी भी मिली है कि लादेन अमेरिका के अलावा अन्य जगहों पर भी हमले की साजिश रच रहा था। वह साल 2010 में अफ्रीका और खाड़ी देशों के कई क्रूड ऑयल टैंकर और समुद्री मार्गों पर हमले करने की योजना बना रहा था।

दरअसल लादेन ये बात जानता था कि क्रूड ऑयल किसी देश की अर्थव्यवस्था को क्या नुकसान और फायदा पहुंचा सकता है। इसलिए वह क्रूड ऑयल पर कंट्रोल करके अमेरिकी अर्थव्यवस्था को कमजोर करना चाहता था। उसने एक पत्र में लिखा भी था कि विस्फोटक से भरी नाव को एक जहाज से सटाकर धमाका कर दो, जिससे कोई जिंदा ना बच पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.