72 साल में दूसरा सबसे गर्म अप्रैल, औसत तापमान ने लोगों को किया बेहाल

सार

गर्मी के सितम के चलते राजधानी में 72 साल में अप्रैल महीना दूसरी बार इतना गर्म रहा है। औसत ताममान 40.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

ख़बर सुनें

अप्रैल ने अपनी विदाई के साथ भीषण गर्मी और लू का रिकॉर्ड बना दिया है। शुक्रवार को इस माह का औसतन अधिकतम तापमान 40.2 डिग्री सेल्सियस रहा, जो 72 साल में दूसरी बार सर्वाधिक रहा। इससे पहले 1951 से 2022 के बीच साल 2010 में औसत अधिकतम पारा 40.4 डिग्री रहा था। वहीं, औसत न्यूनतम तापमान 22.1 डिग्री रहा, जबकि 2018 में यह 22.3 डिग्री दर्ज किया गया था। मौसम विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि अगले तीन दिन तक भीषण गर्मी से राहत की उम्मीद नहीं है।

मौसम विभाग के मुताबिक, 21 अप्रैल को अधिकतम तापमान 35.2 डिग्री सेल्सियस रहा था। शेष दिनों में पारा सामान्य से अधिक रिकॉर्ड किया गया था। वहीं, शुक्रवार तक लू वाले 10 दिन दर्ज किए गए हैं। इससे पहले 2010 में लू के 11 दिनों का रिकॉर्ड है। अब तक अप्रैल में सबसे अधिक 2010 में 43.7 डिग्री सेल्सियस पारा पहुंचा था। 29 अप्रैल 1941 को 45.6 डिग्री सेल्सियस अधिकतम पारा पहुंचने का रिकॉर्ड है।

12 वर्ष में शुक्रवार रहा सर्वाधिक गर्म

तपती गर्मी के बीच लगातार दूसरे दिन पारा सामान्य से पांच अधिक 43.5 डिग्री सेल्सियस रहा, जो 12 साल में सबसे अधिक था। इससे पहले 2011 में 41 डिग्री पारा पहुंचा था। शुक्रवार का न्यूनतम तापमान सामान्य से दो अधिक 25.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा में नमी का स्तर 12 से 63 फीसदी रिकॉर्ड हुआ। दिनभर लू चलने से गर्मी से लोगों का बुरा हाल रहा। आलम यह था कि कूलर व पंखे भी गर्मी से राहत दिलाने में नाकाफी हुए।

 
स्पोर्ट्स कांप्लेक्स रहा सबसे गर्म इलाका

दिल्ली का स्पोर्ट्स कांप्लेक्स इलाका 46.4 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे गर्म रहा। इसके बाद नजफगढ़ 45.9, मुंगेशपुर में 45.9, गुरुग्राम में 45.9 व नोएडा में 44.3 डिग्री सेल्सियस अधिकतम पारा रहा। उत्तर प्रदेश का बांदा इलाका 47.4 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे गर्म रहा है।

 
 

ऑरेंज और येलो अलर्ट
मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के लिए ऑरेंज अलर्ट व इससे अगले दो दिनों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है, ताकि लोग घरों से बाहर कम से कम निकलें और यदि निकलना भी पड़े तो पूरे शरीर और चेहरे को कवर करके रखें। शनिवार को अधिकतम तापमान 44 व न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। विभाग का पूर्वानुमान है कि आगामी दो मई को मौसम बदल सकता है। आंधी-तूफान आने की वजह से गर्मी से हल्की राहत मिल सकती है। 
 

  • अधिकतम तापमान- 44 डिग्री सेल्सियस
  • न्यूनतम तापमान- 26 डिग्री सेल्सियस
  • सूर्यास्त का समय: 6:56 बजे
  • सूर्योदय का समय: 5:41 बजे
  • दिनभर मौसम साफ रहेगा। तेज धूप निकलने की वजह से लू चलने की संभावना है।

विस्तार

अप्रैल ने अपनी विदाई के साथ भीषण गर्मी और लू का रिकॉर्ड बना दिया है। शुक्रवार को इस माह का औसतन अधिकतम तापमान 40.2 डिग्री सेल्सियस रहा, जो 72 साल में दूसरी बार सर्वाधिक रहा। इससे पहले 1951 से 2022 के बीच साल 2010 में औसत अधिकतम पारा 40.4 डिग्री रहा था। वहीं, औसत न्यूनतम तापमान 22.1 डिग्री रहा, जबकि 2018 में यह 22.3 डिग्री दर्ज किया गया था। मौसम विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि अगले तीन दिन तक भीषण गर्मी से राहत की उम्मीद नहीं है।

मौसम विभाग के मुताबिक, 21 अप्रैल को अधिकतम तापमान 35.2 डिग्री सेल्सियस रहा था। शेष दिनों में पारा सामान्य से अधिक रिकॉर्ड किया गया था। वहीं, शुक्रवार तक लू वाले 10 दिन दर्ज किए गए हैं। इससे पहले 2010 में लू के 11 दिनों का रिकॉर्ड है। अब तक अप्रैल में सबसे अधिक 2010 में 43.7 डिग्री सेल्सियस पारा पहुंचा था। 29 अप्रैल 1941 को 45.6 डिग्री सेल्सियस अधिकतम पारा पहुंचने का रिकॉर्ड है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.