दिल्ली में लगातार तीसरे दिन एक हजार से ज्यादा संक्रमित मिले, एक की मौत, सक्रिय मरीज भी 4000 के करीब

सार

सरकार ने कोरोना जांच बढ़ाने के आदेश दिए हैं, लेकिन रोजाना औसतन दो से तीन हजार सैंपल की संख्या बढ़ रही है। स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को बताया कि बीते एक दिन में कोरोना के 1083 नए मामले सामने आए हैं।

ख़बर सुनें

लगातार तीसरे दिन दिल्ली में एक हजार से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। वहीं, एक मरीज की उपचार के दौरान मौत हुई है। हर दिन संक्रमित रोगियों की बढ़ने की वजह से स्थिति यह है कि देश में करीब 50 फीसदी मरीज अकेले दिल्ली में ही मिल रहे हैं। 

हालांकि, सरकार ने कोरोना जांच बढ़ाने के आदेश दिए हैं लेकिन रोजाना औसतन दो से तीन हजार सैंपल की संख्या बढ़ रही है। जबकि कोरोना की संक्रमण दर स्थिर है। रविवार को स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि बीते एक दिन में कोरोना के 1083 नए मामले सामने आए। वहीं, 812 मरीजों को छुट्टी दी गई। जबकि एक मरीज ने कोरोना के कारण दम तोड़ दिया।

दिल्ली में कोरोना की जांच के लिए शनिवार को 24177 नमूने की जांच की गई, जिसमें दैनिक संक्रमण दर 4.48 फीसदी दर्ज की गई है। इस के साथ ही दिल्ली में अभी तक 1874876 लोग संक्रमित हो गए हैं। इनमें से 1844734 मरीज ठीक हो गए। वहीं 26167 मरीजों ने कोरोना के कारण दम तोड़ दिया है। दिल्ली में कोरोना से मृत्युदर 1.4 फीसदी है।
 
विभाग के अनुसार, दिल्ली में कोरोना के सक्रिय केस बढ़कर 3975 हो गए हैं। इनमें से होम आइसोलेशन में 2812 मरीज और अस्पतालों में 80 मरीज भर्ती हैं। अस्पतालों में भर्ती मरीजों में से 31 आईसीयू पर, 28 ऑक्सीजन सपोर्ट पर और 5 वेंटिलेटर पर हैं। दिल्ली में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच कंटेनमेंट जोन की संख्या 656 रह गई है।

आंकड़े बताते हैं कि दिल्ली में बीते 22 अप्रैल से रोजाना एक हजार से अधिक लोग संक्रमित मिल रहे हैं। 22 अप्रैल को एक दिन में 1042 लोग संक्रमित मिले जो 21 अप्रैल की तुलना में करीब आठ फीसदी अधिक है। इसी तरह 23 अप्रैल को 1094 लोग संक्रमित मिले जो 22 अप्रैल की तुलना में करीब पांच फीसदी ज्यादा है। इसी तरह मौत की स्थिति देखें तो बीते तीन दिन में पांच लोगों की मौत हुई है। 22 और 23 अप्रैल को दो-दो मरीजों ने दम तोड़ा। जबकि एक मरीज की मौत 24 अप्रैल को दर्ज की गई।

विस्तार

लगातार तीसरे दिन दिल्ली में एक हजार से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। वहीं, एक मरीज की उपचार के दौरान मौत हुई है। हर दिन संक्रमित रोगियों की बढ़ने की वजह से स्थिति यह है कि देश में करीब 50 फीसदी मरीज अकेले दिल्ली में ही मिल रहे हैं। 

हालांकि, सरकार ने कोरोना जांच बढ़ाने के आदेश दिए हैं लेकिन रोजाना औसतन दो से तीन हजार सैंपल की संख्या बढ़ रही है। जबकि कोरोना की संक्रमण दर स्थिर है। रविवार को स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि बीते एक दिन में कोरोना के 1083 नए मामले सामने आए। वहीं, 812 मरीजों को छुट्टी दी गई। जबकि एक मरीज ने कोरोना के कारण दम तोड़ दिया।

दिल्ली में कोरोना की जांच के लिए शनिवार को 24177 नमूने की जांच की गई, जिसमें दैनिक संक्रमण दर 4.48 फीसदी दर्ज की गई है। इस के साथ ही दिल्ली में अभी तक 1874876 लोग संक्रमित हो गए हैं। इनमें से 1844734 मरीज ठीक हो गए। वहीं 26167 मरीजों ने कोरोना के कारण दम तोड़ दिया है। दिल्ली में कोरोना से मृत्युदर 1.4 फीसदी है।

 

विभाग के अनुसार, दिल्ली में कोरोना के सक्रिय केस बढ़कर 3975 हो गए हैं। इनमें से होम आइसोलेशन में 2812 मरीज और अस्पतालों में 80 मरीज भर्ती हैं। अस्पतालों में भर्ती मरीजों में से 31 आईसीयू पर, 28 ऑक्सीजन सपोर्ट पर और 5 वेंटिलेटर पर हैं। दिल्ली में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच कंटेनमेंट जोन की संख्या 656 रह गई है।

आंकड़े बताते हैं कि दिल्ली में बीते 22 अप्रैल से रोजाना एक हजार से अधिक लोग संक्रमित मिल रहे हैं। 22 अप्रैल को एक दिन में 1042 लोग संक्रमित मिले जो 21 अप्रैल की तुलना में करीब आठ फीसदी अधिक है। इसी तरह 23 अप्रैल को 1094 लोग संक्रमित मिले जो 22 अप्रैल की तुलना में करीब पांच फीसदी ज्यादा है। इसी तरह मौत की स्थिति देखें तो बीते तीन दिन में पांच लोगों की मौत हुई है। 22 और 23 अप्रैल को दो-दो मरीजों ने दम तोड़ा। जबकि एक मरीज की मौत 24 अप्रैल को दर्ज की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.