दिल्ली में गर्मी की चौतरफा मार: तापमान के साथ बिजली की मांग ने भी तोड़ा रिकॉर्ड, जान लें बिजली कंपनियों ने जताई ये संभावना

सार

दिल्ली में गर्मी की वजह से बिजली की मांग 5700 मेगावाट से अधिक पहुंच गई है। मंगलवार को अधिकतम मांग 5700 मेगावाट से ऊपर मांग पहुंच गई। अप्रैल में यह अब तक सबसे अधिक मांग दर्ज की गई है। बिजली कंपनियों का आंकलन है कि अगले कुछ दिनों में मांग 6000 मेगावाट से ऊपर पहुंचने की संभावना जताई जा रही है।

ख़बर सुनें

दिल्ली में एक तरफ तापमान अपना रिकार्ड तोड़ रहा है तो दूसरी तरफ बिजली की मांग भी बढ़ने लगी है। बढ़ती गर्मी व लू के थपेड़ों ने बिजली की मांग को तेजी से बढ़ा दिया है। यह मांग रिकार्ड 5700 मेगावॉट को भी पार कर गई है। बिजली वितरण करने वाली कंपनियों का कहना है कि गर्मी जिस तरह से बढ़ रही है उससे बिजली की मांग में वृद्धि दर्ज की जा रही है। मार्च महीने में पहली बार मांग 4600 मेगावाट से ऊपर पहुंच गई थी। अप्रैल महीने की 10 तारीख को बिजली की मांग 5000 मेगावॉट तक पहुंची थी। 

बिजली की मांग में एक बार फिर तेजी से वृद्धि दिल्ली में होने लगी है। मंगलवार को अधिकतम मांग 5700 मेगावाट से ऊपर मांग पहुंच गई। अप्रैल में यह अब तक सबसे अधिक मांग दर्ज की गई है। बिजली कंपनियों का आंकलन है कि अगले कुछ दिनों में मांग 6000 मेगावाट से ऊपर पहुंचने की संभावना जताई जा रही है। जबकि सोमवार देर रात को अधिकतम मांग 5641 मेगावाट दर्ज की गई थी। जो मंगलवार अपराह्न साढ़े तीन बजे बढ़कर 5735 मेगावाट पहुंच गई। बिजली कंपनियों का कहना है कि पहली बार अप्रैल में मांग छह हजार मेगावाट से अधिक पहुंचने की संभावना है। इसे देखते हुए बिजली कंपनियों ने भी हर साल की तरह इस साल भी एक्शन प्लान तैयार कर निर्बाध बिजली आपूर्ति की व्यवस्था दिल्ली में की है। 

अप्रैल महीने में कब कितनी मांग रही बिजली की
19 अप्रैल 2022 में बिजली की अधिकतम मांग 5735 मेगावाट
16 अप्रैल 2021 में बिजली की अधिकतम मांग 4372 मेगावाट
30 अप्रैल 2020 में बिजली की अधिकतम मांग 3362 मेगावाट
30 अप्रैल 2019 में बिजली की अधिकतम मांग 5664 मेगावाट
30 अप्रैल 2018 में बिजली की अधिकतम मांग 5664 मेगावाट

विस्तार

दिल्ली में एक तरफ तापमान अपना रिकार्ड तोड़ रहा है तो दूसरी तरफ बिजली की मांग भी बढ़ने लगी है। बढ़ती गर्मी व लू के थपेड़ों ने बिजली की मांग को तेजी से बढ़ा दिया है। यह मांग रिकार्ड 5700 मेगावॉट को भी पार कर गई है। बिजली वितरण करने वाली कंपनियों का कहना है कि गर्मी जिस तरह से बढ़ रही है उससे बिजली की मांग में वृद्धि दर्ज की जा रही है। मार्च महीने में पहली बार मांग 4600 मेगावाट से ऊपर पहुंच गई थी। अप्रैल महीने की 10 तारीख को बिजली की मांग 5000 मेगावॉट तक पहुंची थी। 

बिजली की मांग में एक बार फिर तेजी से वृद्धि दिल्ली में होने लगी है। मंगलवार को अधिकतम मांग 5700 मेगावाट से ऊपर मांग पहुंच गई। अप्रैल में यह अब तक सबसे अधिक मांग दर्ज की गई है। बिजली कंपनियों का आंकलन है कि अगले कुछ दिनों में मांग 6000 मेगावाट से ऊपर पहुंचने की संभावना जताई जा रही है। जबकि सोमवार देर रात को अधिकतम मांग 5641 मेगावाट दर्ज की गई थी। जो मंगलवार अपराह्न साढ़े तीन बजे बढ़कर 5735 मेगावाट पहुंच गई। बिजली कंपनियों का कहना है कि पहली बार अप्रैल में मांग छह हजार मेगावाट से अधिक पहुंचने की संभावना है। इसे देखते हुए बिजली कंपनियों ने भी हर साल की तरह इस साल भी एक्शन प्लान तैयार कर निर्बाध बिजली आपूर्ति की व्यवस्था दिल्ली में की है। 

अप्रैल महीने में कब कितनी मांग रही बिजली की

19 अप्रैल 2022 में बिजली की अधिकतम मांग 5735 मेगावाट

16 अप्रैल 2021 में बिजली की अधिकतम मांग 4372 मेगावाट

30 अप्रैल 2020 में बिजली की अधिकतम मांग 3362 मेगावाट

30 अप्रैल 2019 में बिजली की अधिकतम मांग 5664 मेगावाट

30 अप्रैल 2018 में बिजली की अधिकतम मांग 5664 मेगावाट

Leave a Reply

Your email address will not be published.