डीयू की छात्रा ने फांसी लगाकर दी जान, नहीं मिला कोई सुसाइड नोट, मोबाइल पर कॉल आई और फंदे से झूल गई  

अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली
Published by: सुशील कुमार
Updated Fri, 15 Apr 2022 09:31 PM IST

सार

गीता परिवार के साथ हर्ष विहार के सबोली गली नंबर-4 में रहती थी। इसके परिवार में पिता राम दयाल, मां राजाबाई और दो बड़ी बहनें शादीशुदा हैं। गीता दिल्ली विश्वविद्यालय के एसओएल से बीकॉम प्रथम वर्ष की छात्रा थी।

ख़बर सुनें

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के हर्ष विहार इलाके में डीयू की छात्रा ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। मृतका की शिनाख्त गीता (23) के रूप में हुई है। पुलिस को मृतका के पास से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। छानबीन के दौरान पुलिस को पता चला है कि वारदात से पूर्व गीता के मोबाइल पर कोई कॉल आई थी। उसके बाद उसने यह कदम उठाया। पुलिस ने गीता का मोबाइल कब्जे में लेकर मामले की छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस प्रेम प्रसंग समेत अन्य दृष्टिकोणों से मामले की छानबीन कर रही है। गीता के परिजनों से भी पूछताछ की जा रही है। जांच के बाद तथ्यों के आधार पर आगे कार्रवाई करने की बात की जा रही है।

पुलिस के मुताबिक, गीता परिवार के साथ हर्ष विहार के सबोली गली नंबर-4 में रहती थी। इसके परिवार में पिता राम दयाल, मां राजाबाई और दो बड़ी बहनें शादीशुदा हैं। गीता दिल्ली विश्वविद्यालय के एसओएल से बीकॉम प्रथम वर्ष की छात्रा थी। गुरुवार सुबह गीता ने पंखे के सहारे चुन्ने से फांसी लगा ली। परिजनों ने उसे फंदे से लटके हुए देखा तो शोर मचा दिया। फौरन अन्य लोगों की मदद से उसे फंदे से उतारकर नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

खबर मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। छानबीन के दौरान पुलिस को मृतका के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं बरामद हुआ है। परिजनों ने बताया है कि आत्महत्या से कुछ देर पहले गीता के मोबाइल पर किसी का कॉल आया था। इसके बाद से वह काफी परेशान हो गई थी। पुलिस मोबाइल की जांच कर कॉलर का पता लगा रही है। प्रेम प्रसंग समेत तमाम दृष्टिकोणों से मामले की जांच की जा रही है।

विस्तार

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के हर्ष विहार इलाके में डीयू की छात्रा ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। मृतका की शिनाख्त गीता (23) के रूप में हुई है। पुलिस को मृतका के पास से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। छानबीन के दौरान पुलिस को पता चला है कि वारदात से पूर्व गीता के मोबाइल पर कोई कॉल आई थी। उसके बाद उसने यह कदम उठाया। पुलिस ने गीता का मोबाइल कब्जे में लेकर मामले की छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस प्रेम प्रसंग समेत अन्य दृष्टिकोणों से मामले की छानबीन कर रही है। गीता के परिजनों से भी पूछताछ की जा रही है। जांच के बाद तथ्यों के आधार पर आगे कार्रवाई करने की बात की जा रही है।

पुलिस के मुताबिक, गीता परिवार के साथ हर्ष विहार के सबोली गली नंबर-4 में रहती थी। इसके परिवार में पिता राम दयाल, मां राजाबाई और दो बड़ी बहनें शादीशुदा हैं। गीता दिल्ली विश्वविद्यालय के एसओएल से बीकॉम प्रथम वर्ष की छात्रा थी। गुरुवार सुबह गीता ने पंखे के सहारे चुन्ने से फांसी लगा ली। परिजनों ने उसे फंदे से लटके हुए देखा तो शोर मचा दिया। फौरन अन्य लोगों की मदद से उसे फंदे से उतारकर नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

खबर मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। छानबीन के दौरान पुलिस को मृतका के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं बरामद हुआ है। परिजनों ने बताया है कि आत्महत्या से कुछ देर पहले गीता के मोबाइल पर किसी का कॉल आया था। इसके बाद से वह काफी परेशान हो गई थी। पुलिस मोबाइल की जांच कर कॉलर का पता लगा रही है। प्रेम प्रसंग समेत तमाम दृष्टिकोणों से मामले की जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.